विश्व तंबाकू निषेध दिवस कब मनाया जाता है? प्रत्येक वर्ष विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) 31 मई को वर्ल्ड नो टोबैको डे(World No Tobacco Day in Hindi) मनाता है।

उनका लक्ष्य तंबाकू के उपयोग के जोखिमों के बारे में जागरूकता फैलाना है और हम विश्व को तंबाकू से कैसे मुक्त कर सकते हैं।

लगभग6 मिलियन लोग हर साल तंबाकू से संबंधित बीमारियों से मर जाते हैं और2030 तक8 मिलियन से अधिक की वृद्धि होने का अनुमान है। लेकिन यह किसी भी तरह की गारंटी नहीं है।

Sustainable Development Agenda का उद्देश्य गैर-संप्रदाय रोगों से एक तिहाई से मौतों को कम करना है। तंबाकू से जुड़े रोग सूचीबद्ध हैं

, इसलिए यदि हम लक्ष्य को प्राप्त करते हैं, तो 2030 जश्न मनाने का वर्ष होगा न केवल हमारे स्वास्थ्य के लिए बल्कि हमारे आर्थिक रूप से भी।

औसत धूम्रपान करने वाला सालाना सिगरेट पर करीब4,000 डॉलर खर्च करता है। कल्पना कीजिए कि आप उस पैसे को देश के हित में ख़र्च करते तो देश का कितना विकास होता।

विश्व तंबाकू निषेध दिवस का इतिहास विश्व तंबाकू निषेध दिवस विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक पहल है और हर साल 31 मई को मनाया जाता है।

अभियान का उद्देश्य तंबाकू के खतरों और स्वास्थ्य पर इसके नकारात्मक प्रभाव के साथ-साथ निकोटीन उद्योग के शोषण के बारे में जागरूकता फैलाना है जो विशेष रूप से युवाओं के लिए है।

इसका उद्देश्य तंबाकू के सेवन से होने वाली बीमारियों और मौतों को कम करना भी है।2022 के लिए विश्व तंबाकू निषेध दिवस की थीम"Protect The Environment" है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के सदस्य राज्यों ने वैश्विक तंबाकू संकट और महामारी से होने वाली बीमारियों और मौतों की प्रतिक्रिया के रूप में 1987 में विश्व तंबाकू निषेध दिवस बनाया।

विश्व स्वास्थ्य सभा ने 1987 में संकल्प WHA40.38 पारित किया, जिसमें 7 अप्रैल को"विश्व धूम्रपान निषेध दिवस" कहा गया।

इसके बाद संकल्प WHA42.19 1988 में पारित किया गया था, जिसमें 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस के वार्षिक पालन के रूप में जारी किया गया था।

विश्व स्वास्थ्य संगठन हर साल तंबाकू के सेवन से80 लाख लोगों की मौत की रिपोर्ट देता है। तम्बाकू श्वसन संबंधी विकारों जैसे क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज

2008 में WHO ने तंबाकू के किसी भी तरह के विज्ञापन या प्रचार पर प्रतिबंध लगा दिया। दुनिया के सबसे अधिक आबादी वाले देश के रूप में चीन सिगरेट उद्योग में आगे है।

विश्व तंबाकू निषेध दिवस कौन सा है? युवाओं को धूम्रपान की खतरनाक आदत से बचाने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन हर साल31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाता है।

विश्व तंबाकू निषेध दिवस कब घोषित किया गया था? 1987 में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के सदस्य राज्यों ने तंबाकू महामारी और इससे होने वाली मौतों और इससे होने वाली बीमारियों

विश्व तंबाकू निषेध दिवस का उद्देश्य क्या है? प्रारंभ में विश्व तंबाकू निषेध दिवस का उद्देश्य लोगों को 24 घंटे तक तंबाकू या निकोटीन उत्पादों का उपयोग करने से हतोत्साहित करना था।

तंबाकू उद्योग के शोषण और किसी के स्वास्थ्य पर धूम्रपान के हानिकारक प्रभावों के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए यह आयोजन एक वार्षिक कार्यक्रम बन गया।

विश्व तंबाकू निषेध दिवस कैसे मनाएं? आपके द्वारा धूम्रपान की जाने वाली सिगरेटों की संख्या गिनें हो सकता है कि आप धूम्रपान छोड़ने के लिए तैयार न हों यह थोड़ा कठिन है।

लेकिन आप एक दिन में कितनी सिगरेट पीते हैं? इसकी गिनती आपको करनी होंगी ताकि आप यह पता कर सकें कि जहरीला धुँआ आपके फेफड़ों में कितना जा रहा है हैं?

तब आप अपने स्वास्थ्य और तंबाकू में निवेश की गई राशि के बारे में अधिक सोचने लगेंगे। स्वास्थ्य से संबंधित और जानकारी के लिए निचे क्लिक करें